हरियाणा न्‍यायिक परीक्षा की महिला टॉपरों ने डेढ़ करोड़ में खरीदा था पेपर

By | September 15, 2017

हरियाणा सिविल सेवा (न्‍यायिक) की परीक्षा में पेपर लीक के मामले में अाखिरकार पूरी परीक्षा रद कर दी गई। परीक्षा में सामान्‍य और आरक्षित दाेनों वर्गों में महिला परीक्षार्थी टॉपर थीं। जांच में खुलासा हुआ कि दाेनों ने करीब डेढ़ करोड़ रुपये में परीक्षा के प्रश्‍नपत्र खरीदा थे। इस बारे में शिकायत भी एक महिला परीक्षार्थी ने की थी। 109 पदों के लिए इसी साल जुलाई में लगभग 800 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी।

पंचकूला की रहने वाली एक अभ्यर्थी सुमन ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाया था कि परीक्षा का पेपर डेढ़ करोड़ रुपये में बेचा गया। जांच में उसके आरोप साबित सही पाए गए। हाईकोर्ट की जांच कमेटी ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार (भर्ती) डा. बलविंदर शर्मा, परीक्षा में सामान्य वर्ग में टॉप करने वाली सुनीता तथा आरक्षित वर्ग में टॉप करने वाली सुशीला पर एफआइआर दर्ज करने की सिफारिश की है। जांच कमेटी ने शर्मा का तबादला करने और परीक्षा रद कराए जाने की संस्तुति भी की थी। रजिस्ट्रार (भर्ती) बलविंदर शर्मा पंजाब कैडर के न्यायाधीश हैैं।

इस मामले में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट की पूर्ण पीठ ने प्रशासनिक स्तर पर जांच कमेटी द्वारा परीक्षा रद करने की संस्तुति पर निर्णय लेने के लिए कहा था। वीरवार को पूर्ण पीठ को रजिस्ट्रार जनरल ने बताया कि परीक्षा रद कर दी गई है। इसके लिए आदेश जारी हो गए हैं।

खंगाली जाएगी रजिस्ट्रार और टॉपर की कॉल डिटेल

हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार विजिलेंस की रिपोर्ट पर पीठ ने माना कि दो अभ्यर्थियों सुनीता और सुशीला के पास परीक्षा से पहले ही प्रश्न पत्र मौजूद था। लिहाजा यह दूसरों को भी मिला होगा। पीठ ने जांच कमेटी को निर्देश दिए कि वह टेलीकॉम कंपनी से और अभ्यर्थियों की भी कॉल डिटेल जांचे।

सुमन के पास गलती से आई ऑडियो से खुला राज

याची सुमन ने भी परीक्षा में बैठने के लिए आवेदन किया था। तैयारी के लिए एक कोचिंग सेंटर ज्वाइन किया। वहां उसकी दोस्ती सुशीला (जो बाद में आरक्षित वर्ग की टॉपर बनी) से हुई। एक दिन उसने सुशीला से लेक्चर से जुड़ी ऑडियो क्लिप मांगी। जो क्लिप उसे दी गई, उसमें सुशीला किसी दूसरी लड़की सुनीता (जो बाद में सामान्य वर्ग की टॉपर बनी) से बात कर रही थी। दोनों के बीच डेढ़ करोड़ में नियुक्ति की चर्चा हो रही थी। सुमन ने सुशीला से इस बारे में पूछा और पेपर लेने में रुचि दिखाई। सुशीला ने शुरू में तो उसे छह प्रश्न बता दिए, लेकिन बाद में शक हो जाने पर उससे दूरी बना ली।

परीक्षा में आए थे टॉपर द्वारा बताए गए सभी छह सवाल

सुमन के अनुसार, उसने 16 जुलाई को हुई परीक्षा में प्रश्नपत्र देखा तो हैरान रह गई। उसे सुशीला ने जो छह प्रश्न बताए गए थे, वे सभी पेपर में आए थे। इसके बारे में सुमन ने अपने पति को बताया तो उसने इसकी शिकायत पुलिस और हाईकोर्ट को दी। इसके बाद हाई कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई और रिजल्ट शीट कोर्ट में तलब की गई तो पता चला कि जिन दोनों युवतियों के बीच ऑडियो क्लिप में बातचीत हो रही थी, दोनों ने टॉप किया है। इसके बाद सुनवाई के लिए पूर्ण पीठ का गठन हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *