बड़ी खबर : पटवारी बनने वालों की मुश्किलें बढ़ीं, अब और कठिन हो गई परीक्षा

By | November 27, 2017

अगर आप भी पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए फॉर्म भर चुके हैं, तो इस खबर पर जरूर ध्यान दें। ये खबर आपके लिए जानना इसलिए जरूरी है क्योंकि ताजा जानकारी मिलने के बाद ये बात तय हो चुकी है कि प्रदेश के लाखों उम्मीदवारों के लिए ये परीक्षा अब और कठिन हो चुकी है। जी हां, पहले ही ये परीक्षा, इसके लिए आवेदन करने वालों की संख्या को लेकर चर्चा में है, अब सामने आ रहा है कि इस परीक्षा के लाखों ऐसे लोगों ने भी अप्लाई कर दिया है, जिनकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन निर्धारित स्तर से कहीं ज्यादा है। आपको बता दें कि इस परीक्षा के लिए शिक्षा की निर्धारित पात्रता स्नातक मांगी गई थी, लेकिन इसके लिए एमई, एमटेक ही नहीं पीएचडी किए हुए लोगों ने भी आवेदन दिए हैं।

प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड यानि पीईबी द्वारा आयोजित की जारी मध्य प्रदेश पटवारी परीक्षा के लिए 9300 पदों के लिए भर्ती जारी की गई है, जिसके लिए निर्धारित तारीख तक 10 लाख से ज्यादा आवेदन पहुंच चुके हैं। इस परीक्षा के लिए उम्मीदवारों से ग्रेजुएशन स्तर के उम्मीदवारों से आवेदन मंगाए गए थे, लेकिन सूत्रों के मुताबिक इस परीक्षा के लिए तीन लाख से ज्यादा ऐसे उम्मीदवारों ने आवेदन किया है, जिनकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन ग्रेजुएशन से कहीं ज्यादा है। इन लोगों में एमई, एमटेक, एमबीए के अलावा एम.फिल और पीएजडी किए हुए उम्मीदवार भी शामिल हैं।

पटवारी बनने वालों की मुश्किलें बढ़ीं

ग्रेजुएशन से कहीं ज्यादा है एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

इस बारे में प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि 9300 पदों के लिए 10 लाख से ज्यादा आवेदन आए हैं। इनमें 20 हजार लोग ऐसे हैं, जिन्होंने पीएचडी किया हुआ है। वहीं एमटेक करने वाले 1.5 लाख से ज्यादा उम्मीदवार हैं। करीब एक लाख उम्मीदवार ऐसे हैं, जिन्होंने एमबीए किया हुआ है। वहीं एमएससी करने वालों की संख्या भी 30 हजार से ज्यादा है। अधिकारियों का कहना है कि पात्रता से अधिक शैक्षणिक अर्हता वाले उम्मीदवारों के आवेदन के बाद ये परीक्षा बाकी उम्मीदवारों के लिए काफी मुश्किल हो सकती है।

पुलिस भर्ती के बाद पटवारी बनी सबसे बड़ी परीक्षा

आंकड़ों के मुताबिक पटवारी भर्ती परीक्षा पुलिस भर्ती परीक्षा के बाद सबसे बड़ी परीक्षा मानी जा रही है। इससे पहले पुलिस भर्ती परीक्षा के लिए सब-इंस्पेक्टर के पद के लिए प्रदेश से बड़ी संख्या में आवेदन आए थे, लेकिन पटवारी भर्ती परीक्षा ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। इसमें पदों के अनुपात में आवेदन करने वालों की संख्या ने नया रिकॉर्ड बना दिया है। 9300 पदों के लिए 10 लाख से भी ज्यादा लोग आवेदन दे चुके हैं। हालांकि ये कोई नई बात नहीं है कि किसी परीक्षा के लिए निर्धारित शैक्षणिक अर्हता से अधिक वाले लोगों ने भी आवेदन दिया है, लेकिन पटवारी के 9300 पदों के लिए जिस तरह से ग्रेजुएशन के अलावा पोस्ट-ग्रेजुएशन और पीएचडी प्राप्त लोगों ने आवेदन किया है, ऐसा संभवत: पहली बार हुआ है।

उम्मीद से ज्यादा लोगों ने किया आवेदन

पीईबी के अधिकारियों की मानें तो उन्हें इस बात का अंदाजा था कि पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए लाखों की संख्या में आवेदन आएंगे। उनका अनुमान था कि इस परीक्षा के लिए तकरीबन 6 लाख लोग आवेदन कर सकते हैं, लेकिन आवेदन करने वालों की संख्या 10 लाख से भी पार हो चुकी है। निर्धारित से ज्यादा आवेदन करने वालों के विषय पर उनका कहना है कि पहले 12वीं स्तर तक पटवारी की परीक्षा आयोजित की जाती थी, लेकिन इस बार शैक्षणित अर्हता स्नातक करने की वजह से हायर एजुकेशन वाले उम्मीदवारों ने भी फॉर्म भर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *