आईपीएस अफसर ने अपनी बेटी का आंगनबाड़ी में कराया एडमिशन

कई लोग ऐसे होते हैं जो अपने बच्चों का एडमिशन बड़े स्कूलों में कराने के सपने देखते हैं। पर सरकारी स्कूलों की तरफ वो ही इंसान देखता है जिसकी आर्थिक स्थिति खराब होती है। लेकिन इस आईपीएस अफसर ने एक मिसाल पेश की है। अपने बेटी का एडमिशन आंगनबाड़ी में करवाकर। जी हां आईपीएस गाजीपुर के पुलिस अधीक्षक डॉ.यशवीर सिंह ने अपनी बेटी का एडमिशन किसी बड़े प्ले स्कूल में नहीं बल्कि आंगनबाड़ी में कराया है।

आईपीएस अफसर की बेटी अभी दो साल की है जिसका नाम अंबावीर है। वो शहर के ही विशेश्वरगंज स्थित मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र में जाती है।

पुलिस अधीक्षक की बेटी अंबावीर हर दिन स्कूल जाती है। और मिड-डे का खाना भी खाती है। स्कूल के हर बच्चे के साथ वो खेलती है। अंबावीर को स्कूल की तरफ से कोई अलग से ट्रीटमेंट नहीं दिया जाता। हर कोई अंबावीर को स्कूल मे देखकर ताज्जुब करता है। अंबा आंगनबाड़ी के हर बच्चे के साथ घुलमिलकर रहती है। वो सुबह समय से स्कूल जाती है, और खुश रहती है।

आईपीएस अफसर बताते हैं कि वो खुद भी एक सरकारी स्कूल से पढ़े-लिखे हैं। उनका मानना है कि अगर सभी सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों के बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ने लगें तो शिक्षा व्यवस्था में वाकई सुधार आएगा।

वो कहते हैं कि अंबा को आंगनबाड़ी में भेजने का फैसला सिर्फ उनका नहीं बल्कि उनकी पत्नी प्रियंका भी चाहती थी कि बेटी सरकारी स्कूल में पढ़ने जाए।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here