प्राचीन भारत के ग्रन्थ और उनके लेखक (Ancient Indian Writers)

1
1513
ancient india books writers hindi

आज हम आपके सामने प्राचीन भारत में रचित संस्कृत, पाली, प्राकृत व अन्य भाषाओं के ग्रन्थ और उनके लेखकों के नाम बताने वाले हैं. अक्सर परीक्षा में MCQ के रूप में या Match the Following के रूप में Books और Writers से सम्बंधित सवाल आते हैं.

  • अष्टाध्यायी – पाणिनि
  • रामायण – वाल्मीकि
  • महाभारत – वेदव्यास
  • अष्टसाहस्त्रिक सूत्र, प्रज्ञापारमिता सूत्रशास्त्र, माध्यमिका सूत्र – नागार्जुन
  • बुद्धचरित, सारिपुत्र प्रकरण, सूत्रालंकार वज्रसूचि, सौंदर्यानन्द, श्रद्धोत्पाद – अश्वघोष
  • मुद्राराक्षस, देवीचन्द्रगुप्त – विशाखदत्त
  • अर्थशास्त्र – चाणक्य
  • महाभाष्य – पतंजलि
  • कुमारसंभवम्, अभिज्ञानशाकुंतलम्, विक्रमोर्वशीयम्, मेघदूतम्, रघुवंशम्, मालविकाग्निमित्रम्, ऋतुसंहारम् – कालिदास
  • स्वप्नवासवदत्तम्, प्रतिज्ञायौगंधरायण – भास
  • नागानंद, रत्नावली, प्रियदर्शिका – हर्षवर्धन
  • हर्षचरित, कादंबरी – बाणभट्ट\
  • विक्रमांक चरित – बिल्हण
  • पृथ्वीराज रासो – चंदबरदाई
  • राजतरंगिणी – कल्हण
  • चौरपंचाशिका – बिल्हण
  • रसमाला, कीर्ति कौमुदी – सोमेश्वर
  • कर्पूरमंजरी – राजशेखर
  • इंडिका – मैगस्थनीज
  • चरकसंहिता – चरक
  • सुश्रुत संहिता – सुश्रुत
  • मृच्छकटिकम् – शूद्रक
  • संगीतरत्नाकर – शांर्गदेव
  • मीताक्षरा – विज्ञानेश्वर
  • किरातार्जुनीयम् – भारवि
  • पंचतंत्र – विष्णु शर्मा
  • न्याय भाष्य, कामसूत्र – वात्स्यायन
  • काव्यादर्श, दशकुमारचरित – दंडी
  • वासवदत्ता – सुबंधु
  • सूर्य सिद्धांत – आर्यभट्ट
  • बृहत् संहिता, पञ्च सिद्धान्तिका, बृहज्जातिका, लघुजातिका – वाराहमिहिर
  • गीतगोविन्दम् – जयदेव
  • अनर्घराघव – मुरारि
  • आयुर्वेद सर्वस्व, राजमार्तंड, व्यवहार समुच्चय, शब्दानुशासन, युक्तिकल्पतरु, राजमृगिका – राजा भोज
  • भोजप्रबंध – बल्लाल
  • शिशुपाल वध – माघ
  • नैषधीयचरितम् – श्रीहर्ष
  • मालती माधव, महावीर चरित, उत्तररामचरितं – भवभूति
  • साहित्यदर्पण:- भामह
  • ध्वन्यालोक:, प्रमोदचन्द्र – आनंदवर्धन
  • व्यक्तिविवेक: – महिमभट्ट
  • काव्यादर्श – मम्मट
  • वेणिसंहार – भट्ट नारायण
  • प्रमाण मीमांसा – हेमचन्द्र
  • बृहत्कथामंजरी – क्षेमेन्द्र
  • कातन्त्र (व्याकरण) – सर्ववर्मन्
  • अष्टांगसंग्रह, सिद्धांत शिरोमणि, लीलावती – भास्कराचार्य
  • माधव निदान – माधवकर
  • निघंटु – यास्क
  • रसरत्नाकर – नागार्जुन
  • तत्त्व कौमुदी, तत्त्व शारदी, न्यायवर्तिका, न्यायसूत्र धारा, न्यायकणिका, योगसारसंग्रह – वाचस्पति मिश्र
  • योगवर्तिका, योगसारसमग्र – विज्ञान भिक्षु
  • तिलकमंजरी, यशस्तिलक – धनपाल
  • कुट्टनीमतम् –दामोदरगुप्त
  • तत्त्वशुद्धि – उदयन
  • न्यायमंजरी – जयंत
  • न्यायतत्त्व योगरहस्य – नाथमुनि
  • गीतसंग्रह, महापुरुष निर्णय, सिद्धत्रय, अगम प्रामाण्य – यामुनाचार्य
  • धूर्तव्यामा, समरादित्य कथा – हरिभद्र
  • कुवलयमाला – उद्द्योतनसूरि
  • अजित शान्तिस्तव – नंदिसेण
  • सतसई – हाल
  • बृहत्कथा – गुणाढ्य

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here